Collection of Hindi Shayari on Positive Attitude | Status

Hindi Shayari on Positive Attitude


Hindi Shayari on Positive Attitude| दोस्तों Positive Attitude होना बहुत जरूरी है लाइफ में Positive Attitude रखना एक स्टाइल बन गया है लेकिन Attitude सही तरीका होना चाहिए जैसे की गोल की तरफ आगे बढ़ना और गोल से भटकना नहीं यह एक सही तरीका Positive Attitude है आज के जमाने में लोगों ने Positive Attitude  सही तरीके से नहीं रखा है वह Positive Attitude यानी कि अभिमान बना कर रखा है आपको अगर कुछ लाइफ में पाना है तो लाइफ में Positive Attitude रखना बहुत जरूरी है अगर आप Positive Attitude नहीं रखेंगे तो आप लाइफ में कुछ भी अचीव नहीं कर पाएंगेHindi Shayari on Positive attitude

Hindi Shayari on Positive Attitude



ये मत समझ कि तेरे काबिल नहीं हैं हम,
तड़प रहे हैं वो जिसे हासिल नहीं हैं हम.


Hindi Shayari on Positive Attitude








रहते हैं आस-पास ही लेकिन पास नहीं होते,
कुछ लोग मुझसे जलते हैं बस ख़ाक नहीं होते.


Hindi Shayari on Positive Attitude








बेवक़्त, बेवजह, बेहिसाब मुस्कुरा देता हूँ,
आधे दुश्मनो को तो यूँ ही हरा देता हूँ.


Hindi Shayari on Positive Attitude








मेरे बारे में अपनी सोच को थोड़ा बदल के देख​,
​मुझसे भी बुरे हैं लोग तू घर से निकल के देख​.


Hindi Shayari on Positive Attitude








दिल में मोहब्बत का होना जरूरी है,
वर्ना याद तो रोज दुश्मन भी किया करते है.


Hindi Shayari on Positive Attitude








ये खून ज़रा अभिमानी है,
क्योंकि हम बन्दे खानदानी हैं


Hindi Shayari on Positive Attitude








अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूँढ़ते क्यों हो,
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले नाम होने दो.


Hindi Shayari on Positive Attitude








भूलकर हमें अगर तुम रहते हो सलामत,
तो भूलके तुमको संभलना हमें भी आता है,
मेरी फ़ितरत में ये आदत नहीं है वरना,
तेरी तरह बदल जाना हमें भी आता है.


Hindi Shayari on Positive Attitude








चमक सूरज की नहीं मेरे किरदार की है,
खबर ये आसमाँ के अखबार की है,
मैं चलूँ… तो मेरे संग कारवाँ चले,
बात गुरूर की नहीं, ऐतबार की है.


Hindi Shayari on Positive Attitude








तुम बहुत खुश किश्मत हो,
जो हम तुम्हें चाहते है,
वरना हम तो वो है जिनके ख्वाबों में
भी लोग पूछ कर आते है|









जीना है तो फूल की तरह मत जीना जिस
दिन खिलोगे उस दिन ही टूट जाओगे.
जीना है तो जियो पत्थर की तरह जिस दिन तराशे


गए उस दिन खुदा बन जाओएगे|









डरो कम, उम्मीद अधिक रखो; खाओ कम,चबाओ ज्यादा;


कराहों कम, सांस ज्यादा लो; बोलो कम ,


कहो ज्यादा; अधिक प्रेम करो, और सभी अच्छी चीजें तुम्हारी होंगी.









इतना भी गुमान न कर
अपनी जीत पर ऐ बेखबर,
शहर में तेरे जीत से ज्यादा
चर्चे तो मेरी हार के हैं।








आँख उठाकर भी न देखूँ,
जिससे मेरा दिल न मिले,
जबरन सबसे हाथ मिलाना,
मेरे बस की बात नहीं।








आदते बुरी नहीं, शौक ऊँचे हैं,
वर्ना किसी ख्वाब की इतनी औकात नही कि,
हम देखे और पूरा ना हो।


Post a Comment

0 Comments