Best 50+ Sorry Shayari in Hindi for girlfriend..

Sorry Shayari in Hindi


Sorry Shayari in Hindi | Here We are giving best Sorry Shayari in Hindi So you can say sorry to your lover and family members if you did something wrong.


Sorry Shayari



 








"हम आपको खो दे ऐसा हम,,
कभी होने दे नही सकते,!!अगर आप हमसे दूर होना भी चाहे,,
तो हम ऐसा होने दे नही सकते,!!

चाँद सितारों की बारात आये,,
और आपको हमारी याद न आये,!!

हमारी यादों के हसीन पल,,
आपको सोने दे नही सकते"





इन आँखों में कैद क्यों कुछ सपने हो जाते हैं

कुछ जरा पराये लगतें हैं पर कुछ क्यों अपने हो जाते हैं,

कुछ तो बजह है जो उनका ख्याल बार बार आता है,



कुछ लोग दूर होकर भी क्यों अपने हो जातें हैं:












हकीकत की दुनिया से देख ,
जिसकी परछाई बनाई।
काश मुझे मेरे सपनों की रानी मिल जाए,
जिसकी मैंने दिल में है एक दुनिया बनाई







 

कुछ कंधे यकीन दिलाते हैं,


कि ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत हो सकती है।


तेरे एहसास से जुड़ी हर एक चीज़ को संभाले रखा है,











तुझसे शुरू हुई दास्तां का नाम हमने इश्क रखा है ।






















तेरा इश्क़ ही है मेरी बंदगी, मुझे और कुछ तो खबर नहीं,
तुझे देख कर देखूँ और कहीं, अब मेरे पास वो नज़र नहीं।

























रूठने पर भी जो ना रूठे,
वो बात हो तुम........!छूटने पर भी जो ना छूटे,
वो साथ हो तुम.............!


















बैठो कुछ देर सामने यक़ीन के लिए,
दवा जरूरी नहीं हर वक़्त सुकुन के लिए।।


















लबों पर लफ्ज़ भी अब, तेरी तलब लेकर आते हैं,
तेरे ज़िक्र से महकते हैं, तेरे सजदे में बिख़र जाते हैं।
















 



लबों पर लफ्ज़ भी अब, तेरी तलब लेकर आते हैं,
तेरे ज़िक्र से महकते हैं, तेरे सजदे में बिख़र जाते हैं।


















तुम ज़रा कस के,
थाम लो हथेली को मेरी,
लकीरों को,
अच्छा लगेगा, लकीरों से मिलना ।


















ठहर गई है उम्र रुक गई है धड़कन..!!
मन्द है साँसे बस एक तेरे इन्तजार में....!!!!

















कभी किसी पीर ने कहा था,
जिस मोहब्बत का जवाब न आये,
उसे इश्क कहते है...।।



जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं






हकीकत तो थे ही,
मेरे हर ख्वाब थे तुम!
कोई मुझसे चाहे कुछ भी पूछे,
हर सवाल का जवाब थे तुम!













सुबह तक आँखों से सुखे आंसू
तकिये पर अपने निशान छोड़ जाते है...
किसी को ना पता उसके सिवा की हम इक बेवफा की खातिर
हर रोज कितने आंसू बहाते है...



















वो किसी और को छोड़ कर आया मेरे पास
अब मुझे भी छोड़ ही जायेगा...
ना जाने मेरे बाद किसका दिल तोड़ कर
खुद का दिल बहलायेगा...



तुम्हें सोचूँ,,.. वो सपने से कम नहीं,
तुम्हें पाऊँ,,.. वो मन्नत से कम नहीं.....!






तूं तो छोड़ गई बीच रास्ते मे ....
काश कोई आये और कहे में...
तेरे साथ हु पागल ....
मत रोया कर इतना...
कभी तो रोक ले इन आसुओ को...
में उसमे खो जाऊं और भूल जाऊं तेरी फिजाओं को:






करके हिम्मत धीरे धीरे
ज़ख्मो को सी रहा हु मैं
कल आज से बेहतर होगा
इसी उम्मीद पे जी रहा हु






अभी ज़िन्दगी का रुख बहुत खिलाफ है मेरे
दिया जिधर भी जलाऊ हवा उधर से चलने लगती है






जो मिट गया लकीरों से वो पाने गया था
मैं पत्थर के शहर में दिल लगाने गया था

















Post a Comment

0 Comments